Millennials Are More Likely to Check Their Phone While Having Sex, Reveals Study



Checking phone has become a priority for people. A new survey has found that 17 per cent millennials reach for their smartphone during sex.

The US-based survey also found that 85 per cent of people aged between 18 and 34 check their smartphone while using the toilet and 43 per cent look at their phone while in the shower.

Such behaviour is far more common among this younger category of smartphone user than those aged 35 to 51 and 52 to 70, according to the survey, conducted by SureCall — a company which produces devices to boost cell phone reception, technology website GearBrain reported on Thursday.

Although millennials were more likely to check their phone in the bathroom or while having sex, the behaviour is not unique to younger people.

The survey found that 78 per cent people aged between 35 to 51 check their phone in the toilet, as do 53 per cent of people aged between 52 to 70.

Including all three age categories, the survey found that 69 per cent of adults check their phone while using a toilet, with 59 per cent of these people doing so on a daily basis.

Of the 1,137 people questioned, over a quarter (27 per cent) admitted to feeling some level of fear or anxiety when left without their phone. This rises to 30 per cent when their phone has no cell service.

Almost three-quarters said they sleep with their smartphone either on or next to their bed at night. Those who sleep with their phone nearby were twice as likely to admit they feel fear or anxiety when away from the device.

Alarmingly, these people are also twice as likely to say they are “somewhat dissatisfied with their lives”, the survey claimed.

A fifth of respondents (19 per cent) said the habit of regularly checking their phone affected relationships with their family, while nine percent said doing so had an effect on relations with work colleagues.

Over a third (35 per cent) said they believed that looking at their phone before bed affects their quality of sleep, with almost half claiming they wake up two to three times during the night.



Source link

World Brain Tumor Day 2018: भारत में हर साल 50 हजार नए केस, न्‍यूरोसर्जंस ने बताए शुरुआती लक्षण…


नई दिल्ली: अगर ब्रेन ट्यूमर की पहचान जल्द हो जाए तो तो 90 प्रतिशत कैंसर रहित ब्रेन ट्यूमर का पूरी तरह से इलाज हो जाता है, बशर्ते सही तरीके से इलाज कराया जाए. ब्रेन ट्यूमर के बारे में आम लोगों में जागरूकता कायम करने के उद्देश्य से आठ जून को दुनियाभर में विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस मनाया जाता है.

न्यूरो सर्जंस ने बताया कि भारत में हर साल 40 से 50 हजार मरीजों में ब्रेन ट्यूमर का पता चलता है और इनमें से 20 प्रतिशत बच्चे होते हैं. विशेषज्ञों के अनुसार, बच्चों में ल्यूकेमिया के बाद ब्रेन ट्यूमर सर्वाधिक सामान्य कैंसर है.

नई दिल्ली के फोर्टिस एस्कार्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट के वरिष्ठ ब्रेन एवं स्पाइन सर्जन डॉ. राहुल गुप्ता बताते हैं कि एक समय लोग सर्जरी के नाम से डरते थे, लेकिन आज आधुनिक तकनीकों के आगमन के कारण ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी काफी सुरक्षित एवं प्रभावी हो गई है. सर्जरी के बाद ब्रेन ट्यूमर के मरीज आम लोगों की तरह लंबा जीवन जीते हैं.

उन्‍होंने बताया कि पहले ब्रेन ट्यूमर के मरीज आम तौर पर तीन-चार महीने ही जीवित रह पाते थे, लेकिन आज इलाज के बाद ब्रेन टृयूमर के मरीज 10 साल, 20 साल और यहां तक कि 50 साल तक भी जीवित रहते हैं.

डॉ. गुप्ता ने बताया कि पांच साल पहले की तुलना में आज उनके पास इलाज के लिए ब्रेन ट्यूमर के दोगुने मरीज आ रहे हैं. कुछ साल पहले तक उनके पास हर महीने 10 से 15 ब्रेन ट्यूमर के मरीज आते थे, लेकिन आज लगभग हर दिन ब्रेन ट्यूमर का एक नया मरीज आता है.

नई दिल्ली के बीएलके हॉस्पिटल के वरिष्ठ न्यूरोसर्जन डॉ. रोहित बंसिल कहते हैं कि अगर सही समय पर ब्रेन ट्यूमर का पता चल जाए और सही समय पर सही इलाज शुरू हो जाए तो इलाज पूरी तरह से कारगर होता है. उन्होंने कहा कि सुबह-सुबह सिरदर्द या उल्टी के साथ सिरदर्द होना, सिर के किसी हिस्से में पनप रहे ट्यूमर का संकेत हो सकता है. अगर सिर में अक्सर दर्द रहता हो, सिर दर्द के साथ उल्टी होती हो, किसी अंग में कमजोरी महसूस होती हो, आंखों की रोशनी घट रही हो तथा दिमागी दौरे पड़ते हों तो ये लक्षण ब्रेन ट्यूमर के हो सकते हैं. ऐसी स्थिति में जांच एवं इलाज में विलंब करना मौत को बुलावा देना साबित हो सकता है.

मुंबई के वोकहार्ट हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. शिरीष हस्तक बताते हैं कि सेलफोन से होने वाले विकिरण एवं कुछ रसायनों के बहुत अधिक संपर्क में रहने से ब्रेन ट्यूमर का खतरा बढ़ता है. उन्होंने कहा कि आरंभिक शोधों से पता चलता है कि सेल फोन से निकलने वाली रेडियोफ्रीक्वेंसी ऊर्जा ब्रेन ट्यूमर पैदा कर सकती है, हालांकि इस बारे में जो निष्कर्ष निकले हैं, उनकी पूरी तरह से पुष्टि नहीं हुई है.

Headache While Sleeping

डॉ. हस्तक के मुताबिक, कार्सिनोजेनिक किस्म के रसायनों के संपर्क में रहने से भी ब्रेन ट्यूमर का खतरा बढ़ता है. जो लोग आइयोनाइजिंग रेडिएशन के संपर्क में रहते हैं, उन्हें ब्रेन ट्यूमर होने का खतरा अधिक होता है.

डॉ. रोहित बंसिल के अनुसार, ब्रेन ट्यूमर होने पर मस्तिष्क के उस क्षेत्र पर दबाव पड़ता है, जिससे वहां की कार्य प्रक्रिया में बाधा पड़ती है. अगर किसी को उल्टी के साथ सिरदर्द, चक्कर आना/मूर्छा/बेहोशी/मिर्गी, शरीर के अंगों में असामान्य सनसनाहट, लड़खड़ाहट के साथ चलना या असंतुलन (एटैक्सिया), धुंधला दिखना या दृष्टि में कमी, बोलने में कठिनाई, व्यवहार में परिवर्तन, अंगों की कमजोरी, थकावट, भ्रम, एकाग्रता में कमी जैसे लक्षण हो रहे हों तो न्यूरो विषेशज्ञ से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि ये लक्षण ब्रेन ट्यूमर के हो सकते हैं.

मेट्रो मल्टी स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. सोनिया लाल गुप्ता के अनुसार, ब्रेन ट्यूमर दो प्रकार के होते हैं- बिनाइन (बिना कैंसर वाले) या मेलिग्नेंट (कैंसर वाले). बिनाइन ट्यूमर धीरे-धीरे बढ़ता है और कभी भी शरीर के दूसरे भाग में नहीं फैलता है, जबकि मेंलिंगनेंट ट्यूमर कैंसर वाले ट्यूमर होते हैं, जो बहुत तेजी से और आक्रामक तरीके से बढ़ते हैं. कैंसर वाले ट्यूमर मस्तिष्क के आसपास के हिस्से को भेदते हुए कई बार मस्तिष्क के दूसरे हिस्से या रीढ़ में भी फैल जाते हैं.
(एजेंसी से इनपुट)



Source link

WBCHSE Result 2018: West Bengal Council of Higher Secondary Education to Declare Class 12 Results at 10 AM; Check wbchse.nic.in



WBCHSE Result 2018: The West Bengal Council of Higher Secondary Education (WBCHSE) will declare its WBCHSE Class 12 Result on Friday. The WBCHSE Result 2018 will be declared at 10 AM on the official website of the board –wbchse.nic.inwbbse.org or wbresults.nic.in. Students are advised to keep checking the official websites for latest updates. (CLICK HERE FOR LIVE UPDATE ON WBCHSE RESULT 2018)

The West Bengal Board conducted WBCHSE Class 12 exam from March 27 to April 11. Nearly 10 lakh students appeared for the exam this year. To check the results, students can also visit west-Bengal.indiaresults, results.gov.in, exametc.com.

How to Check WBCHSE Result 2018

STEP 1: Click on the official website wbbse.org and wbresults.nic.in

STEP 2: Look for West Bengal Higher Secondary Result 2018

STEP 3: Click on the link West Bengal HS Result 2018.

STEP 4: Enter roll number

STEP 5: Download result and take a print out of it for future use

Students may also check their results through SMS. Students who have appeared for WBCHSE Class 12 Exam 2018 may send an SMS on 56263. SMS – WB12 <ROLL NUMBER> and send it to 56263.

Last year, over eight lakh students appeared in the higher secondary examination. Exams were held between March 15 to 29. The overall pass percentage was 84.20 per cent. Hoogly Collegiate School’s Archisman Panigrahi had topped the exam with 99.02 per cent.



Source link

India’s Adivasi Alcohol, Mahua, is Set to Hit Liquor Stores in Goa Next Week



For an IITian to leave behind a successful software venture in the US to return to India and take the plunge as an entrepreneur in the alcobev sector is unusual. Goa-based Desmond Nazareth, 56, chose to do just that. Desmond Nazareth is a craft distiller who is bringing sacred Adivasi cocktail “Mahua” to the liquor markets of Goa. Mahua is a sacred drink for adivasis, and one of the world’s best when distilled properly.

Mahua is a common tree in deciduous forests of India, quite prominent in states of Andhra Pardesh, Bihar, Gujarat, Karnataka, Madhya Pradesh., Orissa, Rajasthan, Uttar Pradesh and West Bengal. Mahua flowers are in dense fascicles near end of the branches having 1.5 cm long fleshy cream coloured corolla tube and are scented. The flowering period of Mahua is from the month of March to May. Mahua flowers are rich in sugar (68-72%), in addition to a number of minerals and one of the most important raw materials for alcohol fermentation.

The liquor produced from the flowers is largely colourless, with a whitish tinge and not very strong. The taste is reminiscent of sake with a distinctive smell of mahua flowers. It is inexpensive and the production is largely done in home stills.

Nazareth recalls, “My first mahua encounter dates back to 2001, Gujarat,”, adding that the intrigue and chase of obtaining a bent-out-of-shape, dirty plastic bottle full of cloudy mahua, that smelt of musky cooked rice, only supplemented its allure. In fact, it made it to the very top of his ‘to make’ list when he launched DesmondJi in 2011, but soon decided to shelve it until the time was right.

In 2013, Nazareth acquired his first batch of unhygienic-handled mahua flowers from Latur, Maharashtra and began kitchen-scale experiments.

Nazareth further says, “if France has Champagne and Mexico has Tequila, then why should India stop short at Darjeeling tea? Mahua too is just as deserving of GI (Geographical Indication) protection.”



Source link

WBCHSC West Bengal Class 12 Results 2018: West Bengal Board 12th Result Declared at wbchse.nic.in, wbbse.org



WBCHSE Result 2018: The West Bengal Council of Higher Secondary Education (WBCHSE) declared WBCHSE Class 12 Result on Friday. The WBCHSE Result 2018 was declared at 10 AM on the official website of the board –wbchse.nic.inwbbse.org or wbresults.nic.in. Granthan Sengupta has topped Arts stream with 99.2 per cent whereas, Ritvik Kumar Sahu of Science stream has bagged the first position with 98.6 per cent.

(CLICK HERE FOR LIVE UPDATE ON WBCHSE RESULT 2018)

The WBCHSE Class 12 exam was held between March 27 to April 11. The exam was taken up by nearly 10 lakh students. To check the results, students can also visit west-Bengal.indiaresultsresults.gov.inexametc.com.

How to Check WBCHSE Result 2018

STEP 1: Click on the official website wbbse.org and wbresults.nic.in

STEP 2: Look for West Bengal Higher Secondary Result 2018

STEP 3: Click on the link West Bengal HS Result 2018.

STEP 4: Enter roll number

STEP 5: Download result and take a print out of it for future use

Students may also check their results through SMS. Students who have appeared for WBCHSE Class 12 Exam 2018 may send an SMS on 56263. SMS – WB12 <ROLL NUMBER> and send it to 56263.

In 2017, Hoogly Collegiate School’s Archisman Panigrahi had topped the higher secondary examination with 99.02 per cent. Over eight lakh students appeared for the exam which were conducted from March 15 to 29. The overall pass percentage was 84.20 per cent.



Source link

जवां दिल का नींद से ये है नाता, जानें क्‍यों आता है जल्‍दी बुढ़ापा…


न्यूयॉर्क: प्रति दिन सात घंटे की नींद आपके दिल को जवां रख सकती है. साथ ही ये दिल संबंधी रोगों का जोखिम भी घटा सकती है. ये बात एक नए शोध में सामने आई है.
शोध से पता चला है कि रात में सात घंटे नींद लेने वाले वयस्कों में दिल का बुढ़ापा सबसे कम है.

सात घंटे से कम या ज्यादा की नींद का संबंध दिल की जवानी से जुड़ा हुआ है, जबकि कम नींद लेने वालों के दिल में बूढ़ापन देखा गया है. नींद की अवधि, दिल की उम्र के साथ मिलकर दिल संबंधी जोखिमों व नींद की अवधि के फायदे के संप्रेषण में मददगार साबित हो सकती है.

अमेरिका के जार्जिया में इमोरी विश्वविद्यालय की जूलिया दुरमर ने कहा, ‘ये परिणाम महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि यह लोगों के दिल संबंधी जोखिमों के संचार व नींद की अवधि को शामिल करने के परिमाणात्मक पद्धति को प्रदर्शित करते हैं’.

Sleeping

शोध का प्रकाश ‘स्लीप’ नामक पत्रिका में हुआ है. इसमें 12,775 वयस्कों के आंकड़ों को शामिल किया गया, जिनकी आयु 30 से 74 साल के बीच थी.
(एजेंसी से इनपुट)



Source link