UPJEEP 2018: Admit Cards Expected To Be Released In Third Week Of April at jeecup.nic.in



New Delhi, April 10: The Uttar Pradesh Joint Entrance Examination Polytechnic (UPJEEP) entrance examinations 2018 admit cards will be available for download in the third week of April 2018, as per as the recent official notification. Earlier, the official notification had earlier said that the admit cards will be available in the second week of April. The official website of Uttar Pradesh Joint Entrance Examination Polytechnic is jeecup.nic.in. Now, according to the notification, the UPJEEP 2018 admit cards will be available on the Government of India Digilocker website i.e. digilocker.gov.in.

Candidates would need to sign in to your Digilocker account to download the admit card from Digilocker. They need to use their username and password, or their Aadhaar number to sign in.

After downloading the admit card, candidates should check the details mentioned in the hall ticket and in case of any discrepancy should contact the UPJEEP Council immediately.

The UPJEEP examinations are scheduled to be held on April 22, 2018. It will be a pen-paper based examination. There will be one paper for each group having 100 objective questions. On the day of the exam the candidates should carry a cardboard or a clipboard along with them with nothing written on it to ease the process of filling details on the answer sheet.

UPJEEP Examination Schedule:

April 22, 2018 (Sunday) 09.00 am -12.00 pm: Group A (Engineering/Technology Diploma Courses)
April 22, 2018 (Sunday) 02.30 pm – 05.30 pm: Group B to I and K1 to K8 (Other courses)

About JEECUP: Joint Entrance Examination Council, Uttar Pradesh (JEECUP) was established to conduct entrance examination for admission to Diploma courses in the Polytechnics/Institutes affiliated to Board of Technical Education, UP.



Source link

कम पानी पीने से होती है पथरी की बीमारी



नई दिल्ली: बढ़ती गर्मी से आपकी त्वचा और रंगत ही प्रभावित नहीं होती, बल्कि इससे किडनी की सेहत भी प्रभावित होती है.
हालांकि किडनी की सेहत को ठीक रखने के लिए सही खाना बहुत जरूरी है, लेकिन पानी की कमी किडनी में पथरी की बीमारी का खतरा बढ़ा देती है.

हालांकि किडनी की बीमारी जेनेटिक वजहों से भी होती है, लेकिन इसमें लाइफस्टाइल और डायट का योगदान भी होता है. एक अनुमान के अनुसार हर 20 में सेे एक व्यक्ति के किडनी में स्टोन विकसित हो जाता है. लिहाजा देश में 5 से 7 मिलियन लोगों को किडनी में पथरी की बीमारी है.

गर्मी में पसीने के साथ शरीर का विषाक्त तत्व तो निकलता ही है, साथ में पसीने के साथ शरीर का खनिज और पानी भी निकल जाता है. इसलिए गर्मी में ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ लेने की सलाह दी जाती है. शरीर में पानी की कमी के कारण पेशाब कॉन्सेंट्रेट हो जाता है. इसके कारण नमक और खनिज किडनी की आंतरिक परत पर जम जाता है. और यही जमाव धीरे-धीरे पत्थर का रूप ले लेता है.

अध्ययन करने वाले फ्रेड्रिक कोय ने बताया जो लोग ज्यादा से ज्यादा पेशाब करते हैं, ऐसे लोगों में पथरी की बीमारी का खतरा कम होता है. दिन में 2 से 2.5 लीटर मूत्र त्यागने वाले लोगों में स्टोन का खतरा 50 फीसदी कम हो जाता है.

किडनी में मौजूद पत्थर सिर्फ किडनी की सेहत को प्रभावित नहीं करता. इससे शरीर का पूरा सिस्टम प्रभावित होता है. पर्याप्त पानी पीकर पथरी की बीमारी से बचा जा सकता है. रोजाना आप पानी कितना पीते हैं इसका अंदाजा आपकी पेशाब से लगाया जा सकता है. किडनी शरीर से विषाक्त को बाहर निकालती है और शरीर में तरल पदार्थ का संतुलन बनाए रखती है.

इसलिए गर्मी में खासतौर से ज्यादा पानी पीना जरूरी है, जब शरीर को सबसे ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है.



Source link

Xiaomi's India plan may create 50,000 jobs



Xiaomi plans to bring global component suppliers to India and this could potentially bring investment of at least Rs 15000 crore



Source link

KEAM Admit Card 2018: Admit Cards Available Now at cee-kerala.org, Download Soon



New Delhi, April 10: Kerala Engineering, Architecture and Medical and Pharmacy Courses (KEAM) have released the admit cards today i.e. April 10, 2018, on its official website- cee.kerala.gov.in. Candidates those who are appearing for KEAM 2018 must download the admit card from the official website of KEAM. The KEAM examination 2018 will be held on two separate days- that is on April 23 and April 24, 2018.

Paper-I for physics and chemistry subject will be held on April 23. The timings for paper-I will be from 10:00 am-12:30 am. While Paper-II for Mathematics subject will be held on April 24.

How to download your KEAM admit card 2018:

1. Go through the official website of KEAM i.e. cee.kerala.gov.in.
2. Click on the relevant link given on the home page.
3. Enter the relevant details and submit it.
4. The admit card will be displayed.
5. Take out a printout of it for future reference.

To enter the examination centre, the students would be required to produce a copy of the printout of the admit card. The exam will be conducted in the offline mode. The results of the KEAM exam 2018 will be declared on or before May 25, 2018. The examination would be conducted for those who want to take admission in medical, agriculture, forestry, veterinary, fisheries, engineering, architecture and pharmacy courses. It is a state level entrance exam which is also a known by the name of Combined Entrance Examination (CEE). For medical course, a candidate should have appeared in NEET exam for medical course and candidates have to be qualified for NATA entrance exam for the architecture course. The exams will be held across 14 district centres in Kerala, Mumbai, New Delhi and Dubai.



Source link

18 अप्रैल से बदल रही है शनि की चाल, क्या होगा साढ़ेसाती और ढैय्या झेल रहे जातकों का हाल


नई दिल्ली: न्याय प्रिय देवता शनि 18 अप्रैल 2018 से अपनी चाल बदलने वाले हैं. फिलहाल शनि और मंगल की नकारात्मक युति वृश्चिक राशि में बनी हुई है. 18 अप्रैल को शनि मंगल से अलग हो जाएंगे और धनु में वक्री हो जाएंगे. यह स्थिति 6 सितंबर, 2018 तक बनी रहेगी. इस समय वृषभ और कन्या राशि पर शनि की ढैय्या चल रही है और वृश्चिक, धनु और मकर राशियों के जातक शनि की साढ़ेसाती से पीड़ित हैं. जानें शनि के वक्री होने का उन जातकों पर क्या प्रभाव होगा जो ढैय्या और साढ़ेसाती का प्रभाव झेल रहे हैं.

शनि जब वक्री होते हैं तो उनकी चाल उलटी हो जाती है और मार्गी में जाकर उनकी चाल सीधी हो जाती है. जिन जातकों पर पहले से ढैय्या चल रही है, उनका हाल क्या होगा, पहले यह जानें…

वृषभ राशि:


शनि की ढैय्या होने के कारण वृषभ राशि के जातकों के जीवन में उथल-पुथल मची रहेगी. पिता के साथ रिश्ते खराब हो सकते हैं और बच्चों के साथ संबंध पर भी असर दिखेगा. अगर बच्चे बड़े हैं तो उनके साथ अपने संबंध सुधारने की कोशिश करें. निरधनों में कपड़ों और जूतों का दान करें.

वृश्चिक लग्न के साथ हुई है अप्रैल महीने की शुरुआत, जानें क्या होगा राशियों का हाल

कन्या राशि

kanya-rashi
ढैय्या के कारण कन्या राशि के जातकों का स्थान परिवर्तन संभव है. इस दौरान आपको ज्यादा गुस्सा भी आ सकता है. लेकिन अपने गुस्से पर नियंत्रण रखें. क्योंकि क्रोध से आपका काम बिगड़ सकता है. किसी भी हाल में अपनी शांति भंग ना होने दें. जमीन-जायदाद को लेकर विवाद हो सकता है. मंगलवार को हनुमान जी को सिंदूर अर्पित करें. ढय्या के प्रभाव से राहत मिलेगी.

अब उन राशियों के बारे में जानते हैं, जो साढ़ेसाती झेल रही हैं.

वृश्चिक राशि

vrrishchik
शनि की साढ़ेसाती झेल रही राशियों में सबसे पहला नाम है वृश्चिक राशि का. पारिवारिक जीवन में उथल-पूथल रहेगी और मन अशांत रहेगा. पर आपको खुद ही इन स्थितियों को नियंत्रित करना होगा. ऐसा समय भी आ सकता है, जिसके कारण आपको अपने परिवार से अलग रहना पड़ सकता है.

मंगलवार को करें हनुमान चालीसा का पाठ, शनिदेव भी होंगे प्रसन्न, Online यहां पढ़ें चालीसा

धनु राशि

dhanu
धनु पर भी साढ़े साती का प्रभाव है. इसलिए धनु राशि के जातकों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. मानसिक तनाव हो सकता है. पर राहत की बात यह है कि पारिवार और भाई-बहनों से आपको लाभ प्राप्त हो सकता है. इस दौरान मांस-मदिरा से दूर रहें. हनुमान जी की पूजा करें.

मकर राशि

makar
मकर राशि के जातकों के लिए भी यह समय परेशानियों भरा हो सकता है. सेहत पर खर्च बढ़ सकता है. हालांकि आपके लिए अच्छी खबर भी है. मकर राशि के जातकों के लिए विदेश यात्रा का योग बन रहा है. यह समय आपके लिए अनुकूल रहने वाला है. शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ अवश्य करें.



Source link

TNPSC Recruitment 2018: 320 Civil Judge Job Vacancies Available, Apply at tnpscexams.in



New Delhi, April 10: The Tamil Nadu Public Service Commission (TNPSC) has rolled out nearly 320 job vacancies for the post of Civil Judge on its official website- tnpscexams.in. Interested candidates who are willing to sit for the examination may fill the application form on the website- tnpscexams.in. The vacancies were put out on the official website on April 9 and registration will remain open till May 7.

Steps for applying :

  1. Visit the Tamil Nadu Public Service Commission official website- tnpscexams.in.
  2. On the home page, click on the One-Time Registration tab.
  3. A new window opens. Click on the tab New User.
  4. Another window opens. Enter all the relevant details and submit.
  5. Take a printout of the application and keep it for future reference.

Candidates who have already filled the application form may click on the given notification on the homepage and hence proceed likewise. While the last date for filling the exam form remains May 7, payment of fees can be done until May 9 through either State Bank of India (SBI) or Indian Bank. The preliminary examination will be a two-hour long affair and will be conducted on June 9. The main examination, however, will be conducted on August 11 and 12.

Meanwhile, TNPSC released its Group 4 results 2018 on April 9. TNPSC  had conducted group 4 examination February 11 for the post of village administrative officer. At least 1.5 lakh people sat for the examination.



Source link

सार्वजनिक शौचालयों में लगे हैंड ड्रायर से होता है खतरनाक बीमारियों का खतरा



नई दिल्ली: एक नई अध्ययन की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सार्वजनिक शौचालयों में गर्म हवा देने वाले हैंड ड्रायर्स खतरनाक बीमारियों का कारण बन सकते हैं. अध्ययनकर्ताओं का दावा है कि सार्वजनिक शौचालयों में ट्वायलेट फ्लश करने के बाद जो बैक्टीरिया निकलते हैं, उसे हैंड ड्रायर्स अपनी ओर खींच लेते हैं.

अध्ययन के दौरान बाथरूम में कुछ ऐसे बर्तन रखे गए, जो बैक्टीरिया युक्त थे. 18 घंटे तक बाथरूम में छोड़ने के बाद देखा गया कि बैक्टीरिया की संख्या में कितनी बढ़ोतरी हुई है. इसके बाद बैक्टीरियायुक्त बर्तनों को ऐसे बाथरूम में रखा गया, जिसमें हैंड ड्रायर था. हैंड ड्रायर वाले बाथरूम में रखने के बाद 30 सेकेंड के भीतर बैक्टीरिया की संख्या में 254 की बढ़ोतरी हो चुकी थी.

यह भी पढ़ें: वजन घटाना है तो इस गर्मी रोजाना पिएं नारियल पानी

इन जीवाणुओं में स्टेफीलोकोकस औरियस भी शामिल हो सकते हैं, जो एंटीबायोटिक मेथिसिलिन जैसी दवाओं के लिए आपको रेसिस्ट बना सकते हैं ओर सेप्सिस, नीमोनिया या टॉक्सिक शॉक सिंड्रॉम जैसी बीमारियों से ग्रस्त कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: अगर आप फेयरनेस क्रीम लगाते हैं तो यह जरूर पढ़ें…

अध्ययनकर्ताओं के अनुसार हैंड ड्रायर से निकलने वाली गर्म हवा के कारण स्पोर्स नाम की बैक्टीरिया हाथ से चिपक जाती है, जो दस्त और डिहाइड्रेशन की वजह बन सकता है. इसलिए अगली बार जब सार्वजनिक शौचालय का इस्तेमाल करें. हैंड ड्रायर का प्रयोग ना करें.



Source link

AP Inter Results 2018: 1st, 2nd Year Results to be Declared on April 12 at bieap.gov.in



New Delhi, April 10: The Andhra Pradesh (AP) Board will declare its  Class 11 and Class 12 results on April 12 on its official website- bieap.gov.in. Students who have appeared for the examination may check the website in another two days for their result.

Steps to check AP Class 11, Class 12 Results 2018:

  1. Visit the AP Board’s official website- bieap.gov.in.
  2. There will be two links present on the homepage- AP Inter first year results and AP Inter Second year results.
  3. Click on the relevant link.
  4. Then enter your hall ticket number submit.
  5. The result will be displayed. Take a printout for future reference.

Apart from checking your result on the state board’s official website, you may also get your results on your mobile phones by just messaging on a particular number given by the AP Board.

Steps to receive your result via SMS:

  1. On your mobile phones, first type the relevant APGEN2 or APGEN1.
  2. Give space after entering APGEN1/2.
  3. Enter your registration number.
  4. Then send it to 56263.

The exams of Class 11 and Class 12 started from February 28 and March 2 and ended on March 17 and 19 respectively. At least 10 lakh students appeared for the Andhra Pradesh Inter Exams 2018; 5.3 lakh students in 1st year and 5 lakh students in inter 2nd year. A total of 31,493 students were absent for the first language examination. The reason behind the absence of these many students was apparently a rule which was introduced by the Board. According to the rule, students weren’t allowed to enter the examination centre if they were late even by a minute.

Around 457,292 candidates registered for the AP Board 2nd Inter examinations 2018.



Source link